बचत खाते में रखना होगा कम से कम इतना बैलेंस, नहीं तो लगेगा फाइन

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

दोस्तों अगर आपने किसी भी सरकारी या निजी बैंक में अपना सेविंग अकाउंट खुलवा रखा है तो सम्भवतः आपको मालूम होगा कि Saving Account(बचत खाता) में मिनिमम बैलेंस मेंटेन रखना अनिवार्य अन्यथा आपके खाते से हर महीने पेनाल्टी चार्ज काट लिया जाता है।

लेकिन कई लोगों को मालूम नहीं होता कि उनके अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न होने के कारण उनके खाते से पैसे कट रहे हैं क्योंकि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती कि उन्हें अपने सेविंग अकाउंट में कितना मिनिमम बैलेंस बनाए रखना जरूरी है।

इसी विषय की जानकारी हम आपको इस पोस्ट में देने वाले हैं जिससे कि आप सभी बचत खाताधारकों को यह पता रहे कि आपको अपने सेविंग अकाउंट में कितना मिनिमम बैलेंस बनाए रखना अनिवार्य है।

जीरो बैलेंस अकाउंट 

अगर आप अपने बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस को मेंटेन रखने में सक्षम नहीं है तो इस स्थिति में आप जीरो बैलेंस अकाउंट ओपन करवा सकते हैं। कई सारे बैंक जीरो बैलेंस अकाउंट की सुविधा देते हैं इसमें ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस मेंटेन करने की कोई आवश्यकता नहीं होती और साथ ही इसमें आप फ्री ट्रांजैक्शन की भी सुविधा प्राप्त कर पाते हैं।

सभी बैंकों में है अलग-अलग मिनिमम बैलेंस लिमिट की शर्त 

वे सभी नागरिक जिनका बैंक में अकाउंट है उन्हें अपने अकाउंट में मिनिमम बैलेंस को मेंटेन करना अनिवार्य होता है। कई बार मिनिमम बैलेंस न होने की स्थिति में बैंक द्वारा फाइन वसूला जाता है। यह नियम सभी बैंकों में लागू है फिर वह चाहे प्राइवेट सेक्टर बैंक हो या गवर्नमेंट सेक्टर बैंक। यहां हम कुछ बैंकों के मिनिमम बैलेंस की लिमिट के बारे में जानकारी देंगे क्योंकि सभी बैंकों की मिनिमम बैलेंस की लिमिट अलग-अलग होती है ताकि हर सेविंग अकाउंट होल्डर को मालूम रहे कि उन्हें अपने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस कितना रखना है।

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया(SBI)

एसबीआई के बचत खाता धारकों को पहले अपने अकाउंट में 3000रू, 2000रू या 1000रू मंथली मिनिमम बैलेंस रखना होता था लेकिन अब इस शर्त को खत्म कर दिया गया है।

पंजाब नेशनल बैंक(PNB)

पंजाब नेशनल बैंक के ग्राहकों को जिन्होंने सेविंग अकाउंट खुलवा रखा है उन्हें ₹2000 (अर्बन ग्राहकों को) और ₹1000 (ग्रामीण क्षेत्र के ग्राहकों) को मिनिमम बैलेंस अपने खाते में मेंटेन करना होता है।

केनरा बैंक 

केनरा बैंक के ग्राहकों को अपने सेविंग अकाउंट में हर महीने कम से कम ₹2000 का बैलेंस रखना जरूरी होता है।

एचडीएफसी बैंक 

एचडीएफसी बैंक के शहरी बचत खाताधारकों को न्यूनतम ₹10000 का मिनिमम बैलेंस रखना होता है जबकि अर्ध-शहरी क्षेत्र के ग्राहकों को न्यूनतम ₹5000 और ग्रामीण क्षेत्र के शाखा में ₹2500 का न्यूनतम बैलेंस बनाए रखना होता है।

आइसीआइसीआइ बैंक 

इस बैंक में मेट्रो और शहरी क्षेत्र के ग्राहकों को अपने सेविंग अकाउंट में ₹10000 का मिनिमम बैलेंस रखना अनिवार्य है जबकि अर्ध-शहरी क्षेत्र में ₹5000 और ग्रामीण क्षेत्र की शाखा में ₹2000 का मिनिमम बैलेंस रखना अनिवार्य होता है।

कोटक महिंद्रा बैंक 

कोटक महिंद्रा बैंक के बचत खाता धारकों को न्यूनतम ₹10000 का बैलेंस अपने खाते में रखना जरूरी होता है ऐसा न करने पर ग्राहकों को 500 का मासिक गैर-रख रखाव शुल्क देना पड़ेगा। वहीं बैंक द्वारा प्रस्तावित कोटक 811 बचत खाते में न्यूनतम राशि रखने की आवश्यकता नहीं होती।

इंडसइंड बैंक 

इंडसइंड बैंक में जिन ग्राहकों का सेविंग अकाउंट है उनको अपने खाते में मिनिमम बैलेंस ₹10000 रखना अनिवार्य है वहीं जिन ग्राहकों का बचत खाता कैटेगरी सी में है उन्हें ₹5000 का न्यूनतम बैलेंस रखना होगा।

यस बैंक 

यस बैंक में बचत खाता धारकों को ₹10000 का मिनिमम बैलेंस मेंटेन करना अनिवार्य होता है।

Important Note – आरबीआई के मुताबिक अगर आपने अपने बचत खाते में न्यूनतम बैलेंस बनाई नहीं रखा है तो आपका बैलेंस धीरे-धीरे जीरो हो सकता है लेकिन यह बैलेंस माइंस में नहीं जा सकता.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

I am Raj from Rajasthan, and I like to write on topics related to education and jobs, entrance exam. I have experience working in this fild for about 4 years. I have been working in the Exam section of bstcexam.in.

Leave a Comment

Close This Ads
WhatsApp